सावधान : मोबाइल ट्रैकिंग से हुआ खुलासा; बिहार के नौ जिलों में चोरी-छिपे पहुंचे दो लाख प्रवासी, समस्तीपुर में 20054 लोग।




उत्तर बिहार के नौ जिलों में चोरी-छिपे पहुंचे दो लाख प्रवासियों ने राज्य सरकार की नींद उड़ा दी है। बिना किसी जांच के पहुंचे इन प्रवासियों का पता मोबाइल ट्रैकिंग से लगाया जा सका है। देश के सात राज्यों में काम कर रहे इन प्रवासियों का टावर लोकेशन अब उत्तर बिहार के विभिन्न जिलों में बता रहा है। गृह विभाग ने अब अभियान चलाकर इन मोबाइल धारक प्रवासियों की पहचान व उनकी स्क्रीनिंग करने का आदेश दिया है।




लॉकडाउन के दौरान करीब दो लाख प्रवासी बिना जांच के मुजफ्फरपुर सहित नौ जिलों में पहुंच चुके हैं। जो प्रवासी बकायदा जांच व निबंधन कराकर जिलों में पहुंचे हैं, उनको क्वारंटाइन कर उनकी निगरानी की जा रही है। लेकिन, चोरी-छिपे आए इन दो लाख प्रवासियों के निगरानी की कोई व्यवस्था अब तक नहीं हो सकी है। 





उत्तर बिहार में पहुंचे ये प्रवासी देश के सात राज्यों से आये हैं। ये राज्य हैं आंध्र प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, कोलकाता, कर्नाटक, महाराष्ट्र व तमिलनाडु। इन राज्यों में लॉकडाउन लागू होने के बाद ये प्रवासी बिना कहीं पंजीकरण कराए उत्तर बिहार पहुंच गये हैं। देश की तीन बड़ी मोबाइल कंपनियों ने राज्य सरकार को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसके मुताबिक इन सात राज्यों से चोरी छिपे बिहार आने वाले कुल प्रवासियों की संख्या पौने पांच लाख है। इनमें से दो लाख तो केवल उत्तर बिहार के नौ जिलों में आए हैं। 




चोरी छिपे बिहार आने वाले प्रवासियों की संख्या और बढ़ सकती है, क्योंकि राज्य सरकार को अभी मात्र तीन मोबाइल कंपनियों का डेटा मिल पाया है। सभी कंपनियों का डेटा सामने आने के बाद यह आंकड़ा 10 लाख से भी ऊपर पहुंच सकता है। मोबाइल कंपनियों से दी गई जानकारी के आधार पर गृह विभाग ने स्वास्थ्य महकमे को इनका पता लगाने व अनिवार्य रूप से इनकी स्क्रीनिंग का आदेश दिया है। हालांकि, सभी का मोबाइल नम्बर प्राप्त करने और उन्हें छुपे हुए जगहों पर ट्रेस करने में महीनों का समय लग सकता है। इसके देखते हुए गृह विभाग ने युद्धस्तर पर इनका पता लगाने का आदेश अधिकारियों को दिया है।





जिलों में चोरी छिपे इस तरह पहुंचे प्रवासी :

मुजफ्फरपुर 26745

पूर्वी चंपारण 25284

पश्चिम चंपारण 12935


मधुबनी 26745

समस्तीपुर 20054

सीतामढ़ी 11681

वैशाली 18848

शिवहर 2082

दरभंगा 23454







बिहार से जुडी ताज़ा ख़बरों की जानकारी के लिए हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े साथ ही हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें और  पर फॉलो करें!


पुराने पोस्ट
नई पोस्ट

टिप्पणी पोस्ट करें