BSEB बिहार बोर्ड के छात्रों को सता रहा सीबीएसई बोर्ड के छात्रों से पिछड़ने का डर, जानें वजह

 

बिहार और सीबीएसई बोर्ड ने परीक्षा की तारीखों की घोषणा कर दी है। तारीखों के अनुसार, सीबीएसई बोर्ड के 10वीं और 12वीं के अभ्यर्थियों को तैयारी करने का मौका तो मिल जायेगा, लेकिन बिहार बोर्ड के मैट्रिक और इंटरमीडिएट के छात्रों को तैयारी का बहुत मौका नहीं मिल पायेगा। ऐसे में छात्रों को इस बात की चिंता है कि कहीं उनका रिजल्ट प्रभावित न हो जाए।



सीबीएसई की परीक्षायें चार मई से शुरू होंगी और 10 जून तक चलेंगी। वहीं चार जनवरी से नौवीं से 12वीं तक की कक्षायें शुरू होंगी। ऐेसे में सीबीएसई के छात्रों को पढ़ने के लिये चार महीने का समय मिल जाएगा। वहीं बीएसईबी के इंटरमीडिएट की परीक्षा एक से 13 फरवरी और मैट्रिक की परीक्षा 17 से 24 फरवरी तक होगी। इन स्कूलों में भी चार जनवरी से कक्षायें शुरू होंगी, लेकिन इन्हें स्कूलों में पढ़ने के लिये एक महीने का ही समय मिल सकेगा। इस एक महीने में भी छात्रों की अधिकतम सीमा एक दिन में 50 फीसदी तक होने के कारण इन छात्रों को रोजाना कक्षा करने का मौका भी नहीं मिल पायेगा।



सीबीएसई के कोर्स में 30 फीसदी की कटौती भी
सीबीएसई बोर्ड ने वहां के बच्चों के कोर्स में इस बार 30 फीसदी की कटौती की है। यानी 70 फीसदी सिलेबस से ही प्रश्न पूछे जायेंगे। वहीं बीएसईबी में कोर्स में भी कोई कटौती नहीं की है। यानी पूरे कोर्स से प्रश्न पूछे जायेंगे। ऐसे में छात्रों को यह डर है कि कम कक्षाओं और पूरे कोर्स से प्रश्न पूछने के कारण उनके नंबर कम आयेंगे तो स्नातक में नामांकन या भविष्य में कम नंबर होने के कारण उन्हें परेशानी न हो। छात्रा तनुश्री व राहुल ने कहा कि लॉकडाउन में क्लास हुआ नहीं। ऑनलाइन पढ़ाई के उनके पास साधन नहीं थे। ऐसे में परेशानी होगी। अंकित ने भी कहा कि परीक्षा आखिर कैसे देंगे, जब उनकी पढ़ाई ही नहीं हो पाई है।



शिक्षकों ने कहा, आगे हो सकती है परेशानी
उच्च विद्यालय, ममलखा के गणित के शिक्षक मृगांक ने कहा कि रिजल्ट जरूर प्रभावित होगा। शिक्षक संघ के नेता अखिलेश कुमार ने कहा कि आगे की कक्षाओं में परेशानी होगी। सीबीएसई बोर्ड के छात्रों की तुलना में पिछड़ जायेंगे। इनके सिलेबस को घटाना चाहिये और समय भी और बढ़ाना चाहिये।



परीक्षा के बाद तीन महीने क्या करेंगे
अखिलेश कुमार ने कहा कि सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा मई में होगी तो सामान्य तौर पर कॉलेजों में स्नातक में नामांकन उसी समय से होगा और उसी समय से पढ़ाई भी होगी। लेकिन बिहार बोर्ड के छात्रों की परीक्षा फरवरी में ही समाप्त हो जायेगी तो क्या वे भी चार महीने स्नातक में नामांकन के लिये इंतजार करेंगे। ऐसे में यह समय उनके लिये गुजारना मुश्किल हो जायेगा।

पुराने पोस्ट
नई पोस्ट

Ads Single Post 4

 

⏩ व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े : यहाँ क्लिक करे ⏪

◼◼ 

⏩ फेसबुक ग्रुप से जुड़े : यहाँ क्लिक करे ⏪

 

⏩ टेलीग्राम ग्रुप से जुड़े : यहाँ क्लिक करे ⏪

Samastipur News, Samastipur News in Hindi, Samastipur latest News, Samastipur Hindi News, Samastipur Today, Samastipur Todayt News, Samastipur Samachar, Samastipur Hindi Samachar, Samastipur Breaking News, Samastipur Nagar Nigam, Samastipur Town, Samastipur City, Samastipur Today, Samastipur News Today, Samastipur ki khabare, Samastipur Taja Samachar, Samastipur City News, Samastipur Hindi News Paper, Dalsinghsarai News, Rosera News, Patori News, Hasanpur News, Bihar News, Bihar News in Hindi, Bihar Latest News, Patna News, Bihar Today